जगदलपुर: बस्तर संसदीय चुनाव क्षेत्र के अंतर्गत नारायणपुर विधानसभा क्षेत्र के दंडवन गांव में नक्सलियों द्वारा आईईडी ब्लास्ट किए जाने के बावजूद ग्रामीणों ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया और नक्सलियों की आतंक फैलाने की कोशिशों को नाकाम किया। यहां पर सामान्य रूप से मतदान का प्रतिशत 50 फीसदी से ऊपर रहा। इसके अलावा माड़ क्षेत्र में भी ग्रामीणों ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। जिससे माड़ क्षेत्र के मतदाता भी प्रजातांत्रिक व्यवस्थाओं में शामिल हो गये।
उल्लेखनीय है कि नारायणपुर विधानसभा क्षेत्र में शांतिपूर्ण तरीके से मतदान संपन्न हुआ और नक्सलियों को ग्रामीणों ने अपने विकास के इरादे से परिचित करवाया। इस क्षेत्र के दंडवन क्षेत्र में तो मतदाताओं ने लाइन में लगकर तपती दोपहरी में मतदान के प्रति अपना उत्साह दिखाया। इसके अलावा कई मतदाता लंबी दूरी तय कर पैदल चलकर 36 अलग-अलग अतिसंवेदनशील मतदान केंद्रों तक पहुंचे और अपने मताधिकार का प्रयोग किया। इसके अलावा यह भी विशेष तथ्य है कि नारायणपुर के माड़ क्षेत्र के अंतर्गत 27 किमी दूर हरिमरका गांव में पहली बार मतदान केंद्र स्थापित किया गया था और यहां के ग्रामीणों ने पहली बार मतदान किया। जबकि अब तक यहां के ग्रामीणों ने कभी मतदान नहीं किया था। पहली बार मतदान करने को लेकर ग्रामीणों में उत्साह देखा गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here