एक ताजा रिसर्च में महिलाओं द्वारा किए जानेवाली अलग-अलग तरह की एक्सर्साइज का उनकी बॉडी पर होनेवाला प्रभाव देखा गया। इस रिसर्च में सामने आया कि विगरस एक्सर्साइज यानी काफी फुर्ती और तेजी के साथ के किया जानेवाला व्यायाम और फिजिकल ऐक्टिविटी महिलाओं में दिल की बीमारी के कारण होनेवाली जल्द मृत्यु के खतरे को टालने का काम करती है।

आखिर ऐसा क्या होता है विगरस एक्सर्साइज में कि यह कि यह सेहत के साथ ही जिंदगी लंबी करने का काम करती है? इसके जबाव में शोधकर्ताओं का कहना है कि विगरस एक्सर्साइज दिल की धडक़नों को नियंत्रित रखने, ब्लड फ्लो को रेग्युलेट करने और अतिरिक्त फैट को शरीर में जमा होने से रोकती है। इस कारण महिलाओं में हार्ट डिजीज और कैंसर जैसी बीमारियों के होने का रिस्क कई गुना घट जाता है।

शोध में सामने आया कि ट्रेडमिल पर एक्सर्साइज करनेवाली या रेग्युलर रूप से रनिंग करनेवाली महिलाओं में आर्टरीज से जुड़ी दिक्कतें होने का खतरा ना के बराबर होता है, इससे उनके हर्ट से प्रॉपर ब्लड सप्लाई शरीर के दूसरे अंगों में होती रहती है और ब्लॉकेज, क्लोटिंग, स्ट्रोक जैसी दिक्कतों का खतरा काफी कम हो जाता है।

यूनिवर्सिटी हाॉस्पिटल कॉरूना, स्पेन से जुड़े और इस स्टडी के ऑर्थर ज्यूस पेटेरियो के अनुसार, जितना अधिक से अधिक व्यायाम आप कर सकते हैं, वह आपकी फिटनस को बरकरार रख मृत्यु के खतरे के कम करता है। जो महिलाएं नियमित रूप से शारीरिक श्रम खासतौर पर व्यायाम, दौडऩा, लंबी दूरी तक तेज वॉक करना, तेजी से सीढिय़ा चढऩे जैसे काम करती हैं, उन महिलाओं के बीच ऐसा ना करनेवाली महिलाओं की तुलना में मृत्युदर 4 गुना तक कम होती है। यानी जो महिलाएं एक्सर्साइज नहीं करती हैं उनके बीच कम उम्र में दिल की बीमारियों के कारण मृत्युदर का खतरा चार गुना अधिक होता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here