रायपुर: विधानसभा में आज विपक्ष के वरिष्ठ सदस्य अजय चंद्राकर जातिगत टिप्पणी मामले में घिर गए। सत्ता पक्ष के सदस्यों के शोर-शराबे एवं विरोध बढ़ते देखकर अजय चंद्राकर को सदन में अपने शब्दों के लिए माफी मांगकर मामला शांत कराना पड़ा।
प्रश्रकाल में आज शिक्षा के अधिकार मामले में बहस के दौरान मंत्री अमरजीत भगत के द्वारा बीच में टोका-टॉकी किए जाने से नाराज होकर भाजपा सदस्य अजय चंद्राकर ने जातिगत टिप्पणी की। इससे अमरजीत भगत सहित सत्ता पक्ष के अन्य सदस्य उत्तेजित हो गए और उन्होंने अजय चंद्राकर पर इस टिप्पणी के लिए माफी मांगने की मांग की। पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने भी इस मामले में कहा कि जाति वाचक शब्द का प्रयोग करना सही नहीं है। यह घोर आपत्तिजनक है। उन्होंने कहा कि हो सकता है कि अजय चंद्राकर ने भूलवश इस शब्द का प्रयोग किया है इसके लिए उन्हें सदन में खड़े होकर माफी मांगना चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि अगर कोई सदस्य अपने द्वारा गलत शब्द के लिए माफी मांगता है तो वह उसका कद छोटा नहीं बल्कि बड़ा होता है। इसके बाद अजय चंद्राकर ने खड़े होकर अपनी गलती मानते हुए क्षमा मांगा। विधानसभा अध्यक्ष ने भी कहा कि असंसदीय टिप्पणी होने पर उसे कार्यवाही से विलोपित कर दिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here