नई दिल्ली: हॉकी इंडिया की अनुशासन समिति ने मंगलवार को कड़ा फैसला करते हुए नेहरू कप फाइनल के दौरान हिंसा में शामिल 11 खिलाडिय़ों समेत दो टीम अधिकारियों को निलंबित कर दिया है। पिछले महीने नेहरू कप फाइनल के दौरान पंजाब सशस्त्र पुलिस और पंजाब नैशनल बैंक के बीच 56वें नेहरू कप का खिताबी मुकाबला खेला जा रहा था। इस दौरान दोनों टीमों के खिलाडिय़ों के बीच हाथापाई हुई थी और टर्फ पर ही दोनों टीमों के खिलाड़ी एक दूसरे पर हॉकी चलाने लगे। इस प्रकरण के बाद हॉकी इंडिया ने टूर्नमेंट के आयोजकों से विस्तृत रिपोर्ट मांगी थी।

रिपोर्ट की समीक्षा करने और विडियो साक्ष्य देखने के बाद हॉकी इंडिया के उपाध्यक्ष भोला नाथ सिंह की अध्यक्षता में समिति ने सर्वसम्मति से पंजाब सशस्त्र पुलिस और पंजाब नैशनल बैंक के खिलाडिय़ों को क्रमश: 12-18 महीने और 6-12 महीने के लिए निलंबित करने का फैसला किया।
हॉकी इंडिया ने अपने बयान में कहा, समिति ने पंजाब सशस्त्र पुलिस के खिलाडिय़ों हरदीप सिंह और जसकरन सिंह पर 18 महीने के लिए प्रतिबंध लगा दिया, जबकि दुपिंदरदीप सिंह, जगमीत सिंह, सुखप्रीत सिंह, सरवनजीत सिंह और बलविंदर सिंह को हॉकी इंडिया / हॉकी इंडिया लीग की आचार संहिता के तहत स्तर तीन के अपराध के लिए 11 दिसंबर से 12 महीने के लिए निलंबित कर दिया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here