एंटीगुआ : बाएं हाथ के बल्लेबाज डारेन ब्रावो ने कहा है कि बचपन से उनका सपना अपने देश वेस्टइंडीज के लिए 100 टेस्ट मैच खेलना था और अभी भी वह इसी सपने को लेकर जी रहे हैं। डारेन की लंबे समय बाद विंडीज टेस्ट टीम में वापसी हुई है। उन्होंने अपनी वापसी को सार्थक करते हुए एंटीगुआ में इंग्लैंड के खिलाफ खेले गए दूसरे टेस्ट मैच में संयम से भरी बेहतरीन पारी खेली थी।
ब्रावो ने कहा, बचपन से मेरा लक्ष्य वेस्टइंडीज के लिए 100 टेस्ट मैच खेलना था। मैंने जब पदार्पण किया तब भी यही मेरा लक्ष्य था और अभी भी मेरा यही लक्ष्य है। मुझे नहीं लगता कि कोई इसे बदल सकता है। मैंने अभी तक 51 टेस्ट खेल लिए हैं। अब बस कुछ और टेस्ट बाकी हैं। उम्मीद है कि मैं अगले पांच साल तक और खेल सकूं। टेस्ट क्रिकेट निश्चित तौर पर खिलाड़ी की असली परीक्षा होता है।
ब्रावो ने कहा कि वह तीनों प्रारूप में चयन के लिए उपलब्ध हैं। उन्होंने कहा, वेस्टइंडीज के लिए खेलने पर मेरा पूरा ध्यान है। मैं तीनों प्रारूपों में चयन के लिए उपलब्ध हूं। मुझे वापसी करते हुए अच्छा लग रहा है। वेस्टइंडीज ने तीन मैचों की टेस्ट सीरीज में इंग्लैंड पर 2-0 की अजेय बढ़त ले ली है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here