ब्रुसेल्स: यूरोपीय संघ और ब्रिटेन के बीच ब्रेक्जिट की प्रक्रिया को 31 अक्टूबर तक टालने को लेकर सहमति बन गयी है। इससे ब्रिटेन की प्रधानमंत्री थेरेसा मे को ब्रेक्जिट के लिए संसद की मंजूरी लेने का और अधिक समय मिल गया है।
ब्रिटेन के दैनिक समाचार पत्र ‘द गार्जियन’ के मुताबिक यूरोपीय संघ के नेताओं के बीच छह घंटे तक चली मैराथन बैठक में ब्रेक्जिट के लिए ब्रिटेन की प्रधानमंत्री को और अधिक समय देने का निर्णय लिया गया। यूरोपीय परिषद के अध्यक्ष डोनाल्ड टस्क ने इस बैठक के बाद कहा, आज रात यूरोपीय परिषद ने यूनाइटेड किंगडम (ब्रिटेन) को 31 अक्टूबर तक अनुच्छेद-50 का विस्तार करने का मौका देने का फैसला किया है। इसका मतलब कि ब्रिटेन के पास अब छह महीने का अतिरिक्त समय है। इस दौरान पूरी कार्रवाई ब्रिटेन के हाथों में होगी। इसके बाद श्रीमती थेरेसा मे ने प्रधानमंत्री पद पर बने रहने को लेकर सभी सवालों को टालते हुए कहा कि यदि संसद ब्रेक्जिट बिल को पारित करती है तो ब्रिटेन 22 मई को यूरोपीय संघ से अलग हो सकता है। श्रीमती थेरेसा मे ने ब्रेक्जिट को लागू करने में विफल रहने को लेकर सांसदों की आलोचना भी की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here