रायपुर: छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा चालू खरीफ विपणन वर्ष 2019-20 में प्रदेश में अब तक 17 लाख 61 हजार किसानों से 78 लाख 29 हजार मीट्रिक टन धान की खरीदी की जा चुकी है। गत वर्ष की तुलना में इस वर्ष लगभग 2 लाख अधिक किसानों से धान बिक्री की गई। धान बेचने वाले किसानों को 13 हजार 609 करोड़ रूपए का भुगतान किया जा चुका है।

खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग के अधिकारियों ने बताया कि कर्ज माफी से लाभान्वित किसानों को इस वर्ष सहकारी समितियों में धान बेचने के लिए पहली बार अवसर मिला है। पिछले खरीफ विपणन वर्ष 2018-19 में 15 लाख 71 हजार किसानों द्वारा धान बिक्री की गई थी। अधिकारियों ने बताया कि भारतीय खाद्य निगम द्वारा जनवरी 2020 तक राज्य का 4 लाख 10 हजार मीट्रिक टन उसना चावल सेन्ट्रल पूल में और राज्य नागरिक आपूर्ति निगम द्वारा जनवरी 2020 तक 12 लाख 78 हजार मीट्रिक टन अरवा चावल राज्य के पूल में लिया जा चुका है।
अधिकारियों ने बताया कि राज्य के किसानों को धान विक्रय का पूरा लाभ मिले, इसके लिए राज्य के बाहर से आने वाले अवैध धान तथा प्रदेश के भीतर अवैध रिसाईकलिंग पर प्रभावी नियंत्रण रखा जा रहा है। अब तक अवैध धान परिवहन के 4 हजार 482 प्रकरण दर्ज कर 46 हजार 194 टन अवैध धान जब्त किया गया। धान परिवहन करने वाले 441 वाहनों पर भी कार्रवाई की गई हैं।

उल्लेखनीय है कि राज्य शासन द्वारा समर्थन मूल्य पर किसानों से धान खरीदी की अंतिम तिथि बढ़ाकर 20 फरवरी कर दिया गया है। पूर्व में धान खरीदी की अवधि 15 फरवरी 2020 निर्धारित था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here