कोरबा  । राज्य सरकार द्वारा शुरू की गई गोधन न्याय योजना के प्रति जिले के ग्रामीणो में भारी उत्साह देखने मिल रहा है। गोबर जैसी मूल्यहीन वस्तु की दो रूपए किलो मे खरीदी कर मूल्यवान खाद बनाकर ग्रामीण अर्थव्यवस्था को पंख लगाने की इस योजना से गौ-पालको को अच्छा फायदा हो रहा है।
कोरबा जिले में 20 जुलाई से अब तक साढ़े तीन हजार पशुपालको ने 2 लाख 39 हजार किलोग्राम गोबर बेच दिया है और चार लाख 97 हजार रूपए कमा लिए है। गोबर संग्राहकों ने अब तक जनपद पंचायत कोरबा में 39 हजार 455 किलो, जनपद पंचायत करतला में 12 हजार 840 किलो, जनपद पंचायत कटघोरा में 45 हजार 626 किलो, जनपद पंचायत पाली में 1 लाख 13 हजार 435 किलो और जनपद पंचायत पोड़ीउपरोड़ा में 17 हजार 595 किलो गोबर बेचा है। जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री कुंदन कुमार ने बताया कि गोधन न्याय योजना से जिले के पशुपालको को सीधा लाभ होगा। सीईओ ने सभी गोठानो मे गोबर खरीदी की बेहतर व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने के निर्देश अधिकारियों को दिए है।
सीईओ ने बताया कि गोबर संग्राहक के पंजीयन कार्ड में गोठान का नाम, गोठान कोड, जनपद पंचायत का नाम, हितग्राही का कोड नंबर, गोबर विक्रेता का नाम, पिताध्पति का नाम, वर्ग, गोबर विक्रेता का खाता क्रमांक आईएफएससी कोड, बैंक का नाम, बैंक खाता का नाम, मोबाईल नम्बर, राशन कार्ड क्रमांक दर्ज किया जाएगा। इससे एक ही प्रपत्र में हितग्राही की विस्तृत जानकारी संग्रहित हो जायेगी, जिसके परिणाम स्वरूप गोबर बिक्री के भुगतान में शीघ्रता एवं सुलभता होगी, जिसका सीधा लाभ हितग्राहियों को मिलेगा।
०००

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here