जयपुर 2 अगस्त 2020। हॉर्स ट्रेडिंग का खतरा बढ़ने की वजह से मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपने गुट के विधायकों को राजधानी जयपुर से 570 किलोमीटर दूर जैसलमेर के सूर्यगढ़ पैलेस होटल में पहुंचा दिया है। लेकिन इस होटल की सुरक्षा व्यवस्था और होटल में रखे गए विधायकों पर निगरानी बनाए रखने के लिए गहलोत सरकार ने जयपुर कमिश्नरेट की पुलिस पर भरोसा जताया है।

सूर्यगढ़ पैलेस की सुरक्षा और होटल में रुके विधायकों की निगरानी के लिए गहलोत सरकार ने जयपुर कमिश्नरेट की पुलिस पर भरोसा जताया है। जयपुर कमिश्नरी के अतिरिक्त पुलिस आयुक्त राहुल प्रकाश और डीसीपी नार्थ डॉ. राजीव पचार की अगुआई में 2 आईपीएस (IPS), नौ आरपीएस (RPS) और 17 इंस्पेक्टरों समेत 88 पुलिसकर्मियों की टीम को जैसलमेर भेजा गया है। इनमें से 24 पुलिसकर्मी सादी वर्दी में होटल के आसपास तैनात रहेंगे। यह टीम शनिवार को जयपुर से रवाना हुई।

सचिन पायलट के विधायक भी होटल में रुके हुए हैं। इस बीच गहलोत और पायलट गुट के जो विधायक होटलों में रुके हैं, उनके वेतन-भत्ते रोकने के लिए राजस्थान हाई कोर्ट में विवेक सिंह जादौन की ओर से जनहित याचिका (पीआईएल) दाखिल की गई है। याचिका में दलील दी गई है कि कोरोनावायरस के कारण राज्य की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है, लेकिन विधायक अपने इलाकों में जाने की बजाय होटलों में ठहरे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here