देश में कोरोना महामारी के इस महासंकट के दौर में बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं देने के लिए कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ESIC) द्वारा कई कदम उठाए जा रहे हैं। इसी कड़ी में ESIC ने अपने 15 अस्पतालों को डेडिकेटेड कोविड 19 अस्पतालों में तब्दील कर दिया है। इन ESIC अस्पतालों में मौजूद 2166 बेड्स को कोरोना मरीजों के लिेए आइसोलेशन बेड के तौर पर इस्तेमाल किया जाएगा। बता दें कि देश में कोरोना मरीजों की संख्या पौने छह लाख के करीब पहुंच गई है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, ऐसे में ESIC ने कोरोना से लड़ाई के लिए नए कदम उठाए हैं।

कर्मचारियों के लिए ESIC ने बड़ी सुविधा दी है। इसके अंतर्गत कोई भी कर्मचारी लॉकडाउन अवधि के दौरान ESIC से जिन अस्पतालों का टाईअप है, उनमें बिना किसी रैफरल लेटर के जाकर अपना इलाज करा सकेगा।

6 अस्पतालों को बनाया क्वारंटाइन सेंटर

ESIC ने अपने 6 अस्पतालों में क्वारंटाइन सेंटर बनाए हैं। इन अस्पतालों में 1300 से ज्यादा बेड मौजूद हैं। इनका क्वारंटाइन में रखे गए मरीज इस्तेमाल कर सकेंगे। ESIC ने अपने अस्पतालों में करीब 800 एक्स्ट्रा बेड, 555 आईसीयू बेड, 200 से ज्यादा वेंटिलेटर्स की व्यवस्था भी की है।

ESIC मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल ने डीआरडीओ की मदद से देश का पहला आईसीएमआर एप्रूव्ड कोविड 19 सैंपल कलेक्शन मोबाइल लैब शुरू की है। इस लैब का नाम Mobile BSL 3 VRDL Lab रखा गया है।

गौरतलब है कि अगर आपकी सैलरी 21 हजार रुपए महीना तक है और ESIC योजना का इस्तेमाल करते हैं तो ESIC द्वारा दी जा रही इन सभी सुविधाओं का लाभ उठाया जा सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here