नई दिल्ली । आए दिन ऑनलाइन धोखाधड़ी और साइबर अटैक सकड़ों मामले सामने आते रहते हैं। इन सभी मामलों की जांच में यह पता चला है ज्यादातर हैकर्स लोगों को फेक ईमेल भेजकर अपना शिकार बनाते हैं। ऐसे में यह जानना बेहद जरूरी है कि फर्जी ईमेल की पहचान कैसे की जाए। तो आज हम आपको यहां कुछ टिप्स देने जा रहे हैं, जो आपके बहुत काम आएंगे। आइए जानते हैं…

शब्दों पर दें ध्यान

फेक ईमेल की पहचान करने के लिए सबसे पहले उसमें लिखे गए टेक्स्ट की स्पेलिंग और ग्रामर चेक करें। कई बार हैकर्स फर्जी ईमेल में गलत स्पेलिंग लिख देते हैं। हालांकि, वास्तविक ईमेल में स्पेलिंग या ग्रामर की गलती नहीं होती है।

हैकर्स लोकप्रिय कंपनियों के नाम का लेते हैं सहारा

हैकर्स दुनिया की दिग्गज कंपनियों के नाम का सहारा लेकर लोगों को ठगने का प्रयास करते हैं। ऐसे में अगर आपके पास भी किसी कंपनी की तरफ ईमेल आया है, तो उसमें दिए गए लिंक पर भूलकर भी क्लिक न करें। ऐसा करने से आपका निजी डाटा लीक हो सकता है या फिर आपका अकाउंट खाली हो सकता है। आपको बता दें कि कंपनियां लोगों को सीधा ई-मेल या मैसेज नहीं भेजती हैं।

यूआरएल चेक करें

ईमेल में आए लिंक के यूआरएल की पहचान जरूर करें। बता दें कि असली यूआरएल https से शुरू होता है, न कि http से इसकी शुरुआत होती है। ऐसे में हमेशा https से शुरू होने वाले यूआरएल पर क्लिक करें।

ईमेल में आइए अटैचमेंट पर न करें क्लिक

ज्यादा हैकर्स यूजर्स को अपना शिकार बनाने के लिए फेक ईमेल में अटैचमेंट भेजते हैं। ऐसे में अटैचमेंट पर भूलकर भी क्लिक न करें। हमेशा ध्यान रखें कि सबसे पहले ईमेल की जांच करें और उसके बाद ही अटैचमेंट पर क्लिक करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here