नई दिल्ली । त्योहार का मौसम शुरू होने वाला है, ऐसे में स्टेशनों पर आम दिनों की तूलना में यात्रियों की ज्यादा भीड़ होने वाली है। इसको देखते हुए भारतीय रेलवे ने अभी से अपनी तैयारियां शुरू कर दी है। रेलवे बोर्ड ने शुक्रवार को स्टेशनों पर सुरक्षा, भीड़ प्रबंधन, कोरोना वायरस प्रोटोकॉल को लागू करने और मानव तस्करी समेत अन्य व्यवस्थाओं की समीक्षा की।

इसके अलावा रेलवे ने त्यौहारों के दौरान ट्रेनों से यात्रा करने वाली महिला यात्रियों को बेहतर सुरक्षा प्रदान करने के लिए एक नई पहल ‘मेरी सहेली’ शुरू की गई है। इस पहल का उद्देश्य महिला यात्रियों के बीच सुरक्षा की भावना पैदा करना है और महिला यात्रियों के सामने आने वाली सुरक्षा संबंधी किसी भी समस्या का प्रभावी ढंग से समाधान करना है।

भारतीय रेलवे के अनुसार, आगामी त्योहारी सीजन के दौरान रेलवे स्टेशन और ट्रेनों में लोगों की भीड़ में कई गुना इजाफा होगा। इसलिए, विशेष रूप से कोरोना महामारी के दौरान बढ़ी हुई भीड़ से उत्पन्न चुनौतियों का सामना करने के लिए कोरोना प्रोटोकॉल को भी सख्ती से लागू करने की आवश्यकता पड़ेगी।

सख्ती से लागू होगा कोरोना प्रोटोकॉल

रेलवे स्टेशनों और ट्रेनों में कोरोनो वायरस के प्रसार को रोकने के लिए रेलवे प्रशासन द्वारा दिशा-निर्देश जारी किया गया है। इसमें यात्रियों के बीच जागरूकता अभियान शुरू करने और कोरोना वायरस प्रोटोकॉल को सख्ती से लागू करने के लिए कहा गया है। इसके अलावा ट्रेन में महिला यात्रियों की सुरक्षा के लिए भी विशेष इंतजाम करने का निर्दश दिया गया है।

मानव तस्करी के मामलों में होता है इजाफा

इस दौरान मानव तस्करी को रोकने के लिए भी रेलवे ने पूरी तैयारी कर ली है। त्योहारी सीज़न की भीड़ का फायदा उठाकर अपराधी महिलाओं और बच्चों की तस्करी का

प्रयास कर सकते हैं। इसलिए मानव तस्करी के खतरे को रोकने के लिए कार्य योजना पर चर्चा की गई। यह निर्णय लिया गया है कि तस्करों की पहचान करने और उन्हें पकड़ने के लिए एक निरंतर और ठोस अभियान चलाया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here