IPL 2020: आईपीएल के 13वें सत्र की शुरुआत यूएई में 19 सितंबर से होगी। अभी तक की खबरों के अनुसार मैचों का आयोजन खाली स्टेडियमों में होगा लेकिन Emirates Cricket Board के सचिव सचिव मुबाशशिर उस्मानी ने कहा कि अगर सरकार मंजूरी देती है तो वे स्टेडियमों में 30 से 50 प्रतिशत दर्शकों को स्टेडियम में आने की अनुमति देना चाहेंगे। इससे पहले आइपीएल की तारीखों का एलान करते हुए अध्यक्ष ब्रजेश पटेल ने कहा था कि मैच के दौरान दर्शक मैदान पर आएंगे या नहीं इसका फैसला यूएई की सरकार के हाथों में होगा।

उस्मानी ने कहा कि एक बार हमारे सामने ये भी साफ हो जाए कि बीसीसीआई को भी भारत सरकार की तरफ से मंजूरी मिल गई है तो हम अपनी सरकार के पास भी पूरी योजना के साथ जाएंगे जो हमारे और बीसीसीआई द्वारा तैयार की जाएगी। उन्होंने कहा कि हम निश्चित तौर से हमारे लोगों को इस शानदार टूर्नामेंट का अनुभव कराना चाहेंगे लेकिन यह पूरी तरह से सरकार का फैसला होगा। यहां ज्यादातर टूर्नामेंट में दर्शकों की संख्या 30 से 50 प्रतिशत तक होती है, हम इसी संख्या की उम्मीद कर रहे हैं।

उस्मानी ने कहा, हमें इस पर अपनी सरकार की मंजूरी की उम्मीद है। यूएई में कोविड-19 के 6000 से ज्यादा एक्टिव मामले हैं और वहां महामारी पर स्थिति लगभग नियंत्रित ही है। हालांकि नवंबर में होने वाले 2020 दुबई रग्बी सेवंस टूर्नामेंट को कोरोना वायरस के खतरे के कारण 1970 के बाद पहली बार रद्द कर दिया गया है। उन्होंने आईपीएल की सुरक्षा को लेकर हो रही चिंताओं के बारे में कहा कि यूएई सरकार संक्रमितों की संख्या को कम करने में काफी कारगर रही है। हम कुछ नियम और प्रोटोकॉल का पालन करके सामान्य जीवन जी रहे हैं।

उन्होंने कहा कि IPL 2020 में तो अभी थोड़ा समय है, तब तक स्थिति में और सुधार हो जाएगा। आईपीएल की संचालन परिषद रविवार को बैठक करके लॉजिस्टिक और SOP पर फैसला करेगी। इस बैठक में आईपीएल के कार्यक्रम को भी अंतिम रूप दिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here