रायपुर। कोरोना संक्रमण के दूसरी लहर की आशंका के मद्देनजर जिला स्वास्थ्य विभाग ने रणनीति तैयार की है। शासकीय अस्पतालों और जांच केंद्रों में में सैंपल जांच के अलावा बाजारों में भी सैंपल जांच की अतिरिक्त व्यवस्थाएं की जाएगीं। इसके साथ ही रायपुर, दुर्ग मार्ग के पास रायपुर के अंतिम छोर में चेक प्वाइंट बनाया जाएगा।

इसमें बाहर से आने वाले ट्रक ड्राइवर और अन्य लोगों की जांच तो होगी ही। आने-जाने वाला कोई भी व्यक्ति कोरोना संक्रमण की जांच करा सकेगा। इसके लिए चेक प्वाइंट में स्वास्थ्य कर्मी और स्वयंसेवकों को बिठाया जाएगा। सीएमएचओ डा. मीरा बघ्ोल ने बताया कि खारून नदी के पहले चंदनीडीह के आसपास स्थल परीक्षण कर चेक प्वाइंट बनाया जाएगा। बता दें कि जिला स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए कलेक्टर को चारो दिशाओं के चेक प्वाइंट बनाकर जांच करने के लिए पत्र लिखा थ्ाा। जिसे कलेक्टर कलेक्टर ने खारिज कर दिया है। रणनीति में बदलाव कर बाजारों में जांच की सुविधा उपलब्ध कराने की बात कही गई है।

राजधानी में संक्रमित 40 हजार पार

जिले में 18 मार्च से 20 नवंबर की स्थिति में 44 हजार 297 संक्रमित मिले हैं। इसमें से 36445 लोग स्वस्थ हो चुके हैं, 7213 लोगों का इलाज जारी है। जिले में अब तक 639 लोगों की मौत हुई है। जो राज्य के सभी जिलों से काफी अधिक है। राज्य की राजधानी होने और आवागमन अधिक होने की वजह से अन्य जिलों की अपेक्षा रायपुर में अधिक मरीज मिलते हैं। इसलिए ऐसे स्थिति में संक्रमण के रफ्तार को रोकना एक तरह से चुनौती है।

जिले में सप्ताहभर में मिले कोरोना की स्थिति

नवंबर – संक्रमित

12 – 155

13 – 180

14 – 92

15 – 50

16 – 79

17 – 199

18 – 227

19 – 248

20 – 166

वर्जन

सभी जगह चेक प्वाइंट बनाकर जांच कराने में कई तरह की समस्याओं को देखते हुए रणनीति में बदलाव किया गया है। बाजारों में कोरोना जांच की व्यवस्था की जाएगी। हम अभी रायपुर-दुर्ग मार्ग पर चेक प्वाइंट बनाएंगे। जहां जिन्हें जांच कराना होगा, सैंपल जांच करा सकते हैें। स्थल परीक्षण के बाद यह जल्द शुरू करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here