SDM arrives in film style raiding, 26 vehicles seized stealing sand

रायपुर।  छत्तीसगढ़ की सबसे बड़ी नदी महानदी को रेत माफिया की नजर लग गई है। एकओर चहुंओर लॉकडाउन हैं वहीं दूसरी ओर रेत माफिया रातोंरात मशीन से रेत का उत्खनन कर महानदी को नुकसान पहुंचा रहे हैं। इससे सरकार को राजस्व की क्षति होने के साथ ही महानदी के तटों का फैलाव होने से नदी में बारिश के दिनों में बाढ़ आने का खतरा बढ़ गया है। इसकी जानकारी मिली तो एसडीएम आधी रात बाद फिल्मी स्टाइल में ही छापामारी करने निकल पड़े। महानदी के तट पर आरंग क्षेत्र में 10 बड़े डंपर हाइवा वाहन और एक लोडर जेसीबी मशीन जब्त की गई है। जानकार सूत्रों का दावा है कि प्रदेश में सत्तारूढ़ दल के नेताओं और कार्यकर्ताओं के प्रश्रय में ही रेत की धड़ल्ले से चोरी हो रही है। इससे प्रशासन भी राजनीतिक दबाव में कार्रवाई करने से बचता है।

मिली जानकारी के अनुसार रायपुर जिले के आरंग क्षेत्र में रातोंरात रेत उत्खनन और परिवहन की शिकायतें लगातार मिल रही है। इसे रंगे हाथों पकड़ने एसडीएम ने फिल्मी स्टाइल में देर रात बाइक से छापामार कार्रवाई की। आरंग एसडीएम विनायक शर्मा ने रात करीब 1 बजे महानदी के किनारे ग्राम चिखली के हल्दीडीह रेतघाट में खुद बाइक चलाते हुए पहुंचे।

साथ में कुछ अन्य राजस्व अधिकारी और पुलिस के जवान भी थे। देर रात अफसरों को मौके पर पहुंचे देखकर रेतघाट में अफरा-तफरी मच गई। एसडीएम ने मौके से 10 हाइवा वाहन और 1 जेसीबी मशीन को जब्त किया है। इसके बाद मंदिरहसौद क्षेत्र में रेत का अवैध परिवहन कर रहे 16 हाइवा को पकड़ा गया। आधी रात किए गए उनके इस कार्रवाई से रेत माफियाओं में हड़कंप मच गया है।

एसडीएम विनायक शर्मा ने बताया कि आरंग के महानदी किनारे रेतघाटों में रात को अवैध उत्खनन और परिवहन की शिकायत निरंतर मिल रही थी, जिस पर उन्होंने रंगे हाथ पकड़ने की योजना बनाई। रात करीब 1 बजे बाइक से हल्दीडीह रेतघाट पहुंचे और जेसीबी मशीन से हाइवा में रेत लोड करते मौके पर जब्ती बनाई। खनिज विभाग को आगे की कार्रवाई करने के लिए निर्देश दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here