शेयर बाजार

नई दिल्ली । कोरोना के लॉकडाउन के बीच शेयर बाजार के कारोबार की नेगेटिव शुरुआत हुई थी हालांकि बाजार खुलते ही हरे जोन में पहुंच गया। दोपहर बाद शेयर बाजार में तेजी बढऩे लगी और बेंचमार्क सेंसेक्स छलंगा लगाने लगा। दोपहर 1 बजे के आसपास सेंसेक्स 1327 अंकों की तेजी के साथ 28001 पर देखा गया। वहीं निफ्टी में भी अच्छी तेजी दिखी। अब तक के कारोबार में इंडेक्स 28,048.44 का हाई देख चुका है जबकि 26,359.91 तक के लो को छू चुका है।
सेंसेक्स पर दोपहर बाद जिन शेयरों में सबसे ज्यादा तेजी देखी गई उनमें ऐक्सिस बैंक, रिलायंस, मारुति, कोटक बैंक प्रमुख हैं। ऐक्सिस बैंक के शेयरों में करीब 15त्न की तेजी दिखाई दे रही है। आरआईएल फिर मार्केट कैप के लिहाज से टीसीएस को पीछे छोड़कर आगे निकल गई है।
सेंसेक्स 174.22 अंकों की गिरावट के साथ 26,499.81 पर खुला, लेकिन खुलते ही करीब 300 अंक चढ़ गया। निफ्टी की ओपनिंग भी गिरावट के साथ हुई थी, लेकिन मिनटों में ही चढ़ गया। सुबह साढ़े 9 बजे सेंसेक्स 300 अंकों की तेजी के साथ 26974.74 पर देखा गया। वहीं निफ्टी 0.66 पर्सेंट ऊपर 7,852.15 पर ट्रेड कर रहा था। सिंगापुर एक्सचेंज पर निफ्टी फ्यूचर्स की खराब शुरुआत से घरेलू शेयर बाजार की नेगेटिव शुरुआत के संकेत मिल रहे थे। आज के शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स के जिन शेयरों में सबसे ज्यादा तेजी देखई गई उनमें रिलायंस, नेस्ले इंडिया और टेक महिंद्रा के शेयर प्रमुख थे।
कोरोनावायरस को देखते हुए देशभर में लॉकडाउन कर दिया गया है, लेकिन शेयर बाजार का कारोबार जारी है। 21 दिनों तक के लॉकडाउन में शेयर बाजार खुले रहेंगे, हालांकि ब्रोकर्स वर्क फॉम होम हैं। मंगलवार को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा था कि सरकार और आरबीआई सहित दूसरे रेगुलेटर, शेयर मार्केट की स्थिति पर लगातार नजर रखे हुएं है। सेबी ने मार्केट की स्थिति को देखते हुए कुछ दिशानिर्देश भी जारी किए हैं। वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने इस मौके पर कहा कि शेयर मार्केट के सेंटिमेंट को सुधारने के लिए उन्हें लोगों से भी कई सुझाव प्राप्त हुए हैं, सरकार उन पर भी ध्यान दे रही है।
देश में कोरोना वायरस के फैलने के बाद से शेयर मार्केट में जोरदार उतार-चढ़ाव का रुख बना हुआ है। इस दौरान बीएसई का सेंसेक्स पिछले कुछ दिनों में 42,000 अंक से अधिक की ऊंचाई से लुढ़कता हुआ 26,000 अंक के आसपास आ चुका है। सोमवार को एक ही दिन में इसमें 3,900 अंक की गिरावट दर्ज की गई। वहीं अमेरिकी डालर के मुकाबले रुपये में भी बदस्तूर गिरावट का दौर जारी है। पिछले कुछ सप्ताह में यह 72 रुपये प्रति डालर से कमजोर पड़ता हुआ 76 रुपये से प्रति डालर से भी नीचे पहुंच चुका है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here